Latest Post

Monday, 6 March 2017

Message Of Aadishri

आदिश्री का सन्देश 

आदिश्री अरुण 

Message to all

Message Of Aadishri

इस संसार में ज्ञान के सामान पवित्र करने वाला कुछ भी नहीं है।

जितेन्द्रिय (इन्द्रियों को जितने वाला), साधन परायण और श्रद्धावान मनुष्य ज्ञान को प्राप्त होता है।  

ज्ञान को प्राप्त होकर वह बिना विलम्ब के,तत्काल  ही भगवत्प्राप्तिरूप परम शांति को प्राप्त हो जाता है। 

लेकिन जो व्यक्ति विवेकहीन, श्रद्धारहित और संशययुक्त है वह परमार्थ से अवश्य ही भ्रष्ट हो जाता है।

ऐसे संशययुक्त मनुष्य के लिए न यह लोक है, न परलोक है और न सुख ही है। 

Post a Comment