Latest Post

Saturday, 1 October 2016

३ अक्टूबर २०१६ को भव्य प्रकाश का त्यौहार आप भी मनाइये



3 अक्टूबर 2016 को ईश्वर पुत्र अरुण जी के सानिध्य में भव्य प्रकाश का त्यौहार मनाया जाएगा और होगा वेद, गीता, बाइबल, कुरान तथा गुरुग्रंथ साहिब से केवल एक वेद का उपदेश ।
भव्य प्रकाश का त्यौहार मनाने के क्रम में आदिश्री अरुण जी ने सन्देश दिया कि भले ही आपके पास करोड़ों की दौलत हो लेकिन यदि आपके सिर पर माता - पिता का हाथ नहीं है तो दुनिया में आपसे ज्यादा निर्धन कोई नहीं है। 
दौलत तो माता - पिता नहीं हैं, परंतु माता - पिता ही असली दौलत हैं - ये बात कभी मत भूलना ।
Post a Comment