Latest Post

Sunday, 3 July 2016

जरुरत अंधी होती है

तीन तरह के लोग होते हैं (1) वो जो देखते हैं (2) वो जो दिखाने पर देखते हैं और (3) वो जो नहीं देखते हैं। मुझे विश्वास है कि ईश्वर सब चीजें मैनेज कर रहे हैं और उन्हें मुझसे किसी सलाह की जरुरत नहीं है।  ईश्वर के होते हुए, मुझे यकीन है कि अंत में सब अच्छा होगा। तो फिर चिंता करने की क्या बात है। ऐसा समझने के बाद  भी आधुनिक जीवन में तनाव रहता ही  है। वास्तव में जीवन अनुभवों की एक श्रृंखला है और  उन अनुभवों में से हर एक  अनुभव हमें मजबूत मस्तिष्क वाला व्यक्ति  बनाता है।  हालांकि कभी-कभी अनुभवों को महसूस करना कठिन होता है। बाधाएं या समस्या वह  डरावनी चीज है जो आपके हिम्मत को कमजोर कर देती है आप जैसे-जैसे जीवन में आगे बढ़ते हैं आप अपनी क्षमताओं की सीमाओं को जानने लगते हैं। ज्यादातर लोग बाधाओं को  हल करने का प्रयास करने की बजाये अपना समय और उर्जा उसके इर्द - गिर्द बिता देते हैं। लेकिन बाधाओं और समस्याओं का  हल मजबूत इरादा और महत्त्वाकांक्षा को प्रेरित करके ही  किया जा सकता है यदि आप  अपने काम में लगे रहे तो आप जो चाहें वह कर सकते हैं। जरुरत तब तक अंधी होती है जब तक आपको  होश जाय और होश तब आसकता है जब  चेतना वापस आजाय ..............आदिश्री अरुण
Post a Comment