Latest Post

Sunday, 12 June 2016

जीवन

आदि श्री अरुण : सभी लोग मरते हैं, पर वास्तव में सभी लोग जीते नहीं हैं। 
जीवन का सबसे बड़ा उपयोग इसे किसी ऐसे चीज में लगाने में है  जो इसके बाद भी रहे। 
मौत जीवन का अंत करती है, रिश्ते का नहीं। 
जीवन का शत्रु मोह है और मोह सबसे बुरा रोग है। ये हमें कई बार उन चीजों से भी अलग नहीं होने देता जो भविष्य में हमारे लिए ही विनाशकारी हो सकती हैं।


Post a Comment