Latest Post

Saturday, 21 May 2016

दिल की आवाज


हे प्रभु कल्कि,
बहने दे ज्ञान की उस हवा को
छु ले सभी प्राणी के  दिल
तेरा दर्शन मिले हम सबको
करते रहें हम तुमको  नमन
- आदि श्री अरुण 
Post a Comment