Header Ads

Top News
recent

आपकी जरूरत क्या है ?

                                                                            ईश्व पुत्र रु

मनुष्य के रहने के लिए परमेश्वर ने चार  स्थान निर्धारित किया  है - (१) अनामी  - GOD SELF (2) सच्च खंड / अविनाशी लोक/अकाल (३) महा-काल  देश और (४) काल देश / पिंड देश 
चुनाव  आपको करना है कि आपको किस देश में रहने की  जरूरत  है? आपको जिस देश में रहने की  जरूरत  है वही  आपका लक्ष्य है और आप वहीँ जाएँगे । 
*अनामी  जहाँ परमेश्वर स्वयं रहते  है 
*सच्च खंड / अविनाशी लोक :- इसमें तीन लोक हैं - (१) अगम (२) अलख (३) सतलोक 
महाकाल  देश :- इसमें तीन लोक हैं - (१) भँवर गुफा / सोऽहं ब्रह्म/ निह अक्षर  (२) महा -शून्य (३) शून्य /      रारम ब्रह्म /अक्षर 
*काल देश / काल का पिंजरा :- इसके तीनों लोक हैं।  इसके तीनों लोक - (१) BRAHMAND (CAUSAL)        ब्रह्माण्ड काउजयल / अति  सूक्ष्म (2) SUBTLE सूक्ष्म (3) PIND (PHYSICAL) पिंड देश / शरीर
(१) BRAHMAND (CAUSAL) ब्रह्माण्ड काउजयल / अति  सूक्ष्म:- इसमें  में दो स्थान हैं - (१) दसम द्वार /  क्षर (२) त्रिकुटी / माया ब्रह्म / ॐ कार
(2) SUBTLE सूक्ष्म:- इसमें  में तीन  स्थान हैं - (१) ज्योति निरंजन (२) सहस - दल - कँवल (३) तीसरी आँख  THIRD EYE
(3) PIND (PHYSICAL) पिंड देश / शरीर
काल के इस पिंजरे में जीव आकर फस गया। काल ने इस पिंजरे में काम, क्रोध, लोभ और मोह का दाना  डाल दिया है और जीव इसी दाने को चुगता रहता है। एक दिन काल आता है और इस जीव को निगल जाता है। अब चुनाव  आपको करना है कि आपको किस देश में रहने की जरूरत  है? आपको जिस देश में रहने की  जरूरत  है वही  आपका लक्ष्य है। आप वहाँ जाने के लिए जतन कीजिये और आप वहीँ पहुँच जाएँगे । 
Post a Comment
Powered by Blogger.